Saturday, November 29, 2014

दुआ होगी क़ुबूल सोचा ना था ..

दुआ होगी कुबूल कुछ इस तरह सोचा ना था ...
कि जिनकी राह तकते थे,वो हमसफ़र है बन बैठे ...

No comments:

Post a Comment