Tuesday, February 7, 2012

HAPPY ROSE DAY ....एक गुलाब जो रखता हूँ ....



किसी हंसी ख्वाब से  सजा के कुछ,  इस  किताब पे  रखता हूँ..
तेरी आँख जो  खुल जाये, तो पढ़ लेना , एक जवाब जो रखता हूँ ...
बड़े कमज़ोर हैं ,यह लब्ज़ मेरे तेरे सामने ,कुछ अलफ़ाज़ जो  रखता हूँ ..
मेरे प्यार की निशानी है ये , तेरे तकिये के पास एक , गुलाब जो रखता हूँ ....

शशि दिल से...

2 comments: