Friday, February 10, 2012

HAPPY TEDDY DAY....ये खिलौना कुछ हसीं सा...


ये खिलौना कुछ हसीं सा,तेरी मुशुकुराहत सा दिखता है...
यह बंद मेरे बिस्तर पे, एक  कहानी मिलन की कहता है ...
सुकून सा मिलता है दिल को,और कुछ मौजूदगी तुम्हारी है मिल जाती ..
जब गले से मेरे लिपट के, ये कुछ लब्ज़ प्यार के लिखता है..

अब तुम दूर हो और, पास जो आ नहीं सकती ,
तुमने दे दिया ये तोफहा, ये मूरत ,आँखों में जो बसती,

मेरे साथ मेरे पास मेरी बाहों में, दिन रात तेरे नाम सा ये रहता है,
ये खिलौना कुछ हसीं सा ,तेरी मुशुकुराहत सा दिखता है,
 
शशि 'दिल से..

2 comments: