Saturday, November 29, 2014

सलाम तेरे जज़्बे को ...

तेरे जज़्बे को सलाम करता हूँ हर पल....
तू सरहद पे जगता है जो , हम चैन की नींद लेते हैं...

No comments:

Post a Comment