Wednesday, March 4, 2009

होती ना अगर आपसे से मोहब्बत हमको .....

होती ना अगर आपसे से मोहब्बत हमको ,तो रंग ना उस दुनिया के हम कहानियो में समेटते ।
ना शायरी से यूँ दोस्ती करते ,न पन्नो पे ख्वाब बिखेरते ।
गर इनकार ना तुम करते उस दिन तो ,न यूँ पैमानों से हम मचलते ,
सहनाई पे तेरी न यूँ गीत गाते ,न ख़ुद ही ख़ुद की शायरी के शब्दों से यूँ खेलते ।
शैलांश ....

9 comments:

  1. Bahut hi sundar shruaat, swagat.

    ReplyDelete
  2. आपका हिन्दी चिट्ठाजगत में हार्दिक स्वागत है. आपके नियमित लेखन के लिए अनेक शुभकामनाऐं.

    एक निवेदन:

    कृप्या वर्ड वेरीफीकेशन हटा लें ताकि टिप्पणी देने में सहूलियत हो. मात्र एक निवेदन है बाकि आपकी इच्छा.

    वर्ड वेरीफिकेशन हटाने के लिए:

    डैशबोर्ड>सेटिंग्स>कमेन्टस>Show word verification for comments?> इसमें ’नो’ का विकल्प चुन लें..बस हो गया..कितना सरल है न हटाना और उतना ही मुश्किल-इसे भरना!! यकीन मानो!!.

    ReplyDelete
  3. गर इनकार ना तुम करते उस दिन तो ,न यूँ पैमानों से हम मचलते ,
    Bahut khuub wah ..wah, sundar likha hai aapnne
    kisi ne kaha hai..
    Dil lene ki tumko aarju thi
    ab jaan se,lo apni gaye ham ..
    meri shubhkamnae sweekar karen ..mk

    ReplyDelete
  4. मैं शायर तो नहीं मगर ऐ हसीं तेरी मुहब्बत ने कुछ सिखा दिया ।
    कुछ इस कदर छाया है तेरा जादू मैंने सबको अपना दिल दिखा दिया।

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    ReplyDelete
  6. होती ना अगर आपसे से मोहब्बत हमको ,
    तो रंग ना उस दुनिया के हम कहानियो में समेटते

    Well said.........

    ReplyDelete
  7. हिंदी ब्लॉग जगत में आपका हार्दिक स्वागत है ,आपके लेखन के लिए मेरी शुभकामनाएं ...........

    ReplyDelete
  8. ब्लोगिंग जगत मे स्वागत है
    सुंदर रचना के लिए शुभकामनाएं
    भावों की अभिव्यक्ति मन को सुकुन पहुंचाती है।
    लिखते रहि‌ए लिखने वालों की मंज़िल यही है ।
    कविता,गज़ल और शेर के लि‌ए मेरे ब्लोग पर स्वागत है ।
    मेरे द्वारा संपादित पत्रिका देखें
    www.zindagilive08.blogspot.com
    आर्ट के लि‌ए देखें
    www.chitrasansar.blogspot.com

    ReplyDelete